Monday, 16 October 2017

हमारा परिचय

Posted by मंगलज्योति at October 16, 2017 0 Comments



कुछ सपने ऐसे भी होते हैं जिन्हें हम दिन में अपनी पूरी चेतना और खुली आंखों से देखते हैं। उन सपनों को हम जीना चाहते हैं, अपने असल जीवन का हिस्सा बनाना चाहते हैं। उनको साकार करके आत्मसंतुष्ट होना चाहते हैं।
परिस्थितियों के अलावा कभी-कभी हमारे मन में कुछ डर और कभी कुछ झिझक भी होती है जो हमें मनचाहा काम करने से रोकते हैं। डर कुछ भी नहीं होता, ये बस हमारे ही मन का बनाया एक हौवा है, जो हमें हमारे ही खोल से निकलने से रोके रखता है।

मेरा मानना यही है कि अपने सपनों को मरने मत दीजिए। उन्हें अपने मन के अंदर पालिए और खूबसूरत बनाइये। उनको पूरा करने के लिए अपने ही अंदर एक जूनून भी पैदा कीजिए और सही वक्त का इंतज़ार कीजिए। जब आपको लगे कि हां, अब मैं अपने लिए और अपने सपने के लिए भी जी सकता हूं।

मंगलज्योति एक प्रयास है हिन्दी भाषा के आधुनिक रचनाकारो को एक मंच पर लाने का जिस से की हिन्दी साहित्य के इन नवीन स्तंभों को उपयुक्त नाम और सम्मान दिया जा सके. इसके साथ ही हमारी कोशिश है कि आधुनिक हिन्दी साहित्य की बिखरी हुई अनमोल रचनाओ का संकलन किया जा सके  जिस से की आने वाली पीढ़ी इस अनमोल धरोहर से वंचित न रहे।
मंगलज्योति एक प्रयास हैं कि गांव कस्बों के युवाओ को अपनी प्रतिभा दिखाने का एक जरिया मिले!और वो लोग भी जुड़े जिन्हें नयी प्रतिभाओं की तलाश हैं!प्रोत्साहन का एक मंच हैं ,जो धुमिल होती लोकगीत, लोक परम्पराओं को सरंक्षित करने का उद्देश्य रखता हैं !

बिना किसी संगीत,धुन, राग के भी आप कोई भी लोकगीत(कजरी,फगुआ,बिरहा ) गाने का अपना वीडियो बनाकर हमारे माध्यम से प्रकाशित करवा सकते हैं ! यह भी लुप्त होते गीत, कविता, कहानियों को संरक्षण करने तथा आज के अंधाधुंध प्रचलन दौर में लोगों को अपनी संस्कृति के प्रति जागरूक और अवगत कराने में मददगार साबित होगा ! 

आप सभी से अनुरोध है कि हमारे इस प्रयास में अपना योगदान दे! अगर आप को लगता है कि आप अच्छा लिखते हैं या आप अपने आस पास किसी भी व्यक्ति को जानते हो जो अच्छा लिखते हैं, उन्हें हमारे साईट के बारे में ज़रूर बताएं !
अगर आपको हिन्दी लिखने मे परेशानी हो तो,अपनी कविता,कहानियों का वीडियो बना कर भेज दीजिए! वीडियो किसी युट्युब का नहीं होना चाहिए !
यह एक निशुल्क मंच है जिस पर योग्य रचनाकारों की स्वरचित रचनाओं को हम दुनिया भर के पाठक के सामने रखते हैं।

समाज उत्थान हेतु दान पात्र

आप भी अपनी कविता, कहानियां ,लेख अन्य रोचक तथ्य हमसे फेसबुक /ट्विटर ग्रुप में शेयर या
इस Email👉 mangaljyoti05@outlook.com पर भेज सकते हैं !

अपडेट प्राप्त करे

नए लेख के लिए सब्सक्राइब करिये ,हम कभी भी आपका ईमेल पता साझा नहीं करेंगे.

0 comments:

समाज उत्थान हेतु दान पात्र

Subscribe

Archive

Translate

Views

Copyright©2017 All rights reserved मंगलज्योति

back to top