Friday, 13 April 2018

दौलत वाला भिखारी

Posted by मंगलज्योति at April 13, 2018 0 Comments


दौलत वाला सबसे बड़ा भिखारी है !
संतोषी ही सबसे बड़ा सुखारी है !!

पैसे वाले का पैसा ही सब कुछ है !
केवल पैसे से ही उसकी यारी है !!

तुम हो एक कमलिनी मानसरोवर की !
नागफनी मै कांटो से ही यारी है !!

कामदेव क्या कर पायेंगे उसका !
जो न तो नर है ना वो नारी है !!

एक एक कर दोस्त सभी गोलोक गये !
लगता अगले साल हमारी बारी है !!

जितना भोला-भाला नेता दिखता वो !
उतना ज्यादे ही उसमे मक्कारी है !!

कर लो हजम माल जितना भी जी चाहे !
तुम सरकारी माल भी सब सरकारी है !!

ऊटपटांग जो आता है लिख देता हूं !
"खेतान" की भी अपनी कुछ लाचारी है !!

****************************










Jagdish Khetan 
Kapataganj, India

आप भी अपनी कविता, कहानियां ,लेख अन्य रोचक तथ्य हमसे फेसबुक /ट्विटर ग्रुप में शेयर या
इस Email👉 mangaljyoti05@outlook.com पर भेज सकते हैं !

अपडेट प्राप्त करे

नए लेख के लिए सब्सक्राइब करिये ,हम कभी भी आपका ईमेल पता साझा नहीं करेंगे.

0 comments:

समाज उत्थान हेतु दान पात्र

Subscribe

Archive

Translate

Views

Copyright©2017 All rights reserved मंगलज्योति

back to top