Sunday, 29 April 2018

बिजली रानी के मेहरबानी

Posted by मंगलज्योति at April 29, 2018 0 Comments

**बिजली रानी के मेहरबानी**
*******************

बिजली रानी के मेहरबानी 
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।
टीबी पंखा फ्रीज बा बंद ना मिलता पानी।।
सचिवालय से लाइन मैन तक
सब केहू तोहके लूटल ।
यूपी में का पैदा भइलीं
भगीये हमार फूटल ।
ट्रान्सफारमर दहन कब्बो होता
कब्बो तरवे टूटल।
का बतलाईं केतना बढल बाटे परेसानी।
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।।
मिलल बा मुफ्त के लैपटाप
बाकीर ऊ चली त कैसे।
बिना पानी मछरी रानी
बेकल हो जाली जैसे।।
फिक्स चार्ज बिजली के बाटे
ओमे जहर के जैसे ।।
ईयाद करा देला बिजली बिल हमार नानी।
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।।
रोजे अनसन धरना होता
रोज नया नित नाटक ।
अइसे रही त खेत बेच के
चल जाइब कर्नाटक।
जाके रोजे योग सिविर मे
करब ध्यान और त्राटक।
उहाँ देखब फिलिम सोले अउर राजा जानी।
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।।
मंत्रीयन के खास क्षेत्रन मे
बिजली चौबीस घन्टा।
बाकी के सगरो क्षेत्रन मे
बा बिजली के टन्टा।
मंदिरन मे उहां के जनता
रोजे हिलावे घन्टा।।
कटिया से बिजली जरावे ऊ काटता चानी।
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।।
कौनो दिन गर मन में आई
सैफई चल जाईब ।
उहां त सासन के किरपा से
हरदम बिजली पाइब।
दांव पेंच कुस्ती के सिखाइब
अखाडा उहाँ चलाइब।।
रूपया हमहूँ खूब कमाइब कइके पहलवानी।।
बिजली रानी अइतू करतू तनी मेहरबानी।।

*******************








जगदीश खेतान
गोरखपुर ,इंडिया 

आप भी अपनी कविता, कहानियां ,लेख अन्य रोचक तथ्य हमसे फेसबुक /ट्विटर ग्रुप में शेयर या
इस Email👉 mangaljyoti05@outlook.com पर भेज सकते हैं !

अपडेट प्राप्त करे

नए लेख के लिए सब्सक्राइब करिये ,हम कभी भी आपका ईमेल पता साझा नहीं करेंगे.

0 comments:

समाज उत्थान हेतु दान पात्र

Subscribe

Archive

Translate

Views

Copyright©2017 All rights reserved मंगलज्योति

back to top